तिजोरी - प्रेरणादायक कहानी



तिजोरी प्रेरणादयक कहानी - जरूर पढ़ें 

Tijori motivational story in Hindi



एक औरत एक मौलवी साहब के पास जाती है और उनसे कहती है " मौलवी साहब कोई ऐसा तावीज़ लिख दीजिए जिससे मेरे बच्चे रात को भूख से रोया न करें "।

मौलवी साहब ने तावीज़ लिख दिया ।

अगले ही दिन उसके आँगन में एक पैसों से भरा हुआ थैला मिला ।

उन पैसों से उसके पति ने एक दुकान किराये पर ले ली ।
और अपना कारोबार शुरू कर दिया ।

कारोबार में काफी फायदा हुआ और उनकी दुकानें बढ़ती गयीं ।
अब उनको पैसों की कोई कमी नहीं रही ।

एक दिन उस औरत की नज़र  पुराने संदूक में रखी उस तावीज़ पर पड़ी ।
उसने सोचा के जाने इसमे मौलवी साहब ने ऐसा क्या लिखा था जिसकी वजह से मेरी गरीबी दूर हो गयी और मेरे हालात बेहतर हो गए ।

ये जानने के लिए उसने वो तावीज़ खोलकर देखने का फैसला किया ।
उसने तावीज़ खोली और पढ़ने लगी ।
उसमे लिखा था " जब तुम्हारी गरीबी दूर हो जाए और पैसों की कोई कमी ना रहे तब सारे पैसे तिज़ोरी में छुपाकर  रखने के बजाए कुछ ऐसे घरों में भी डाल देना जहाँ रात में बच्चों के रोने की आवाज़ आती हो ।।।


Popular posts from this blog

Ab bhI bheegi barish me wo

Ab mai chai peeta hu

Sone ka sandook - The golden box